गणेश जी महाराज की आरती। गणेश जी की आरती हिंदी में। गणपती आरती सुखकर्ता दुखहर्ता

गणेश जी महाराज की आरती। गणेश जी की आरती हिंदी में। गणपती आरती सुखकर्ता दुखहर्ता

भगतो आज हम आपको गणपति जी की सभी आरती लिख कर बतायेगे जिसे हम इंग्लिश ओर हिंदी दोनों भाषा मे लिखी है जिससे आपको पढ़ना आसान हो

भगतो हम जब भी अच्छा कार्य करते है तो हम सबसे पहले गणेश जी की पूजा करते है और जब भी कोई जागरण जमा लगाया जाता है तब गणेश जी की आरती सबसे पहले की जाती है इसके अलावा भी बहुत शुभ स्थान पर गणेश जी को मनाया जाता है और इनकी पूजा करके आरती की जाती है

भगतो अगर आपको गणेश जी गणपति जी की आरती लिखी हुहि पढ़नी है तो आप यहां से पढ़ सकते हो जो कि आपको गणेश जी की 2 आरती मिलेंगे जिसे हमने इंग्लिश ओर हिंदी में लिखा है तो आइए गणेश जी की आरती पढ़ते है

जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा आरती

जय गणेश जय गणेश,जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती,पिता महादेवा ॥

एक दंत दयावंत, चार भुजा धारी ।
माथे सिंदूर सोहे, मूसे की सवारी ॥

जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा ॥

पान चढ़े फल चढ़े, और चढ़े मेवा ।
लड्डुअन का भोग लगे, संत करें सेवा ॥

जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा ॥

अंधन को आंख देत, कोढ़िन को काया ।
बांझन को पुत्र देत, निर्धन को माया ॥

जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा ॥

‘सूर’ श्याम शरण आए, सफल कीजे सेवा ।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा ॥

जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा ॥

दीनन की लाज रखो, शंभु सुतकारी ।
कामना को पूर्ण करो, जाऊं बलिहारी ॥

जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा ॥

Jai Ganesh Jai Ganesh,Jai Ganesg Deva Aarti

Jai Ganesh Jai Ganesh, Jai Ganesg Deva ।
Mata Jaki Parwati, Pita Maha Deva ॥

Ek Dant Daya Want, Char Bhuuja Dhari ।
Mathe Sindor Shoye, Muse Ki Sawari ॥

Jai Ganesh Jai Ganesh, Jai Ganesg Deva ।
Mata Jaki Parwati, Pita Maha Deva ॥

Pan Chadhe Phool Chadhe, Aur Chadhe Mewa ।
Laduan Ko Bhog Lage, Sant Kare Sewa ॥

Jai Ganesh Jai Ganesh, Jai Ganesg Deva ।
Mata Jaki Parwati, Pita Maha Deva ॥

Andhan Ko Aankh Det, Kodhin Ko Kaya ।
Bajhan Ko Purta Det, Nirdhan Ko Maya॥

Jai Ganesh Jai Ganesh, Jai Ganesg Deva ।
Mata Jaki Parwati, Pita Maha Deva ॥

‘sur’ Shaam Sharan Aaye, Safal Ki Jiye Sewa
Mata Jaki Parwati, Pita Maha Deva ॥

Jai Ganesh Jai Ganesh, Jai Ganesg Deva ।
Mata Jaki Parwati, Pita Maha Deva ॥

Deenan Ki Laaj Rakho, Shambhu Sutakari ।
Kamana Ko Poorn Karo, Jaoon Balihari ॥

Jai Ganesh Jai Ganesh, Jai Ganesg Deva ।
Mata Jaki Parwati, Pita Maha Deva ॥

गणपती आरती सुखकर्ता दुखहर्ता

सुख करता दुखहर्ता, वार्ता विघ्नाची,

नूर्वी पूर्वी प्रेम कृपा जयाची,

सर्वांगी सुन्दर उटी शेंदु राची,

कंठी झलके माल मुकताफळांची,

जय देव जय देव, जय मंगल मूर्ति,

दर्शनमात्रे मनःकमाना पूर्ति,

जय देव जय देव,

रत्नखचित फरा तुझ गौरीकुमरा,

चंदनाची उटी कुमकुम केशरा,

हीरे जडित मुकुट शोभतो बरा,

रुन्झुनती नूपुरे चरनी घागरिया,

जय देव जय देव, जय मंगल मूर्ति,

दर्शनमात्रे मनःकमाना पूर्ति,

जय देव जय देव,

लम्बोदर पीताम्बर फनिवर वंदना,

सरल सोंड वक्रतुंडा त्रिनयना,

दास रामाचा वाट पाहे सदना,

संकटी पावावे निर्वाणी रक्षावे सुरवर वंदना,

जय देव जय देव, जय मंगल मूर्ति,

दर्शनमात्रे मनःकमाना पूर्ति,

जय देव जय देव,

शेंदुर लाल चढायो अच्छा गजमुख को,

दोन्दिल लाल बिराजे सूत गौरिहर को,

हाथ लिए गुड लड्डू साई सुरवर को,

महिमा कहे ना जाय लागत हूँ पद को,

जय जय जय जय जय,

जय जय जी गणराज विद्यासुखदाता,

धन्य तुम्हारो दर्शन मेरा मत रमता,

जय देव जय देव,

अष्ट सिधि दासी संकट को बैरी,

विघन विनाशन मंगल मूरत अधिकारी,

कोटि सूरज प्रकाश ऐसे छबी तेरी,

गंडस्थल मद्मस्तक झूल शशि बहरी,

जय जय जय जय जय,

जय जय जी गणराज विद्यासुखदाता,

धन्य तुम्हारो दर्शन मेरा मत रमता,

जय देव जय देव,

भावभगत से कोई शरणागत आवे,

संतति संपत्ति सबही भरपूर पावे,

ऐसे तुम महाराज मोको अति भावे,

गोसावीनंदन निशिदिन गुण गावे,

जय जय जी गणराज विद्यासुखदाता,

धन्य तुम्हारो दर्शन मेरा मत रमता,

sukh karata dukhaharta Aarti

sukh karata dukhaharta, vaarta vighnachee,

nooravee poorvee prem krpa jayaachee,

sarvaangee sundar ut shendu raachee,

kanthee jhalake maal mutyaphu raanchee,

jay dev jay dev, jay mangal moorti,

darshanamaatre manah sakaam poorti,

jay dev jay dev,

ratnakhachit phara taj gaureekumaar,

chandanaachee utee kumakum keshara,

heere jadit mukut shobhato baink,

runzutee noopure charanee ghagariya,

jay dev jay dev, jay mangal moorti,

darshanamaatre manah sakaam poorti,

jay dev jay dev,

lambodar peetaambar phanivar vandana,

saral sond alatunda trinayana,

daas raamaacha vaat paahe sadana,

sankatee paavaave nirvaanee rakshaave suravar vandana,

jay dev jay dev, jay mangal moorti,

darshanamaatre manah sakaam poorti,

jay dev jay dev,

shendur laal chadhaayo achchha gajamukh ko,

dondil laal biraaj sut gaurihar ko,

haath ke lie chaahe laddoo saee suravar ko,

mahima kahe na laagat laagat hoon pad ko

jay jay jay jay jay

jay jay jee ganaraaj vidyaasukhar

aasheervaad tuhaaro darshan mera mat nahin karana

jay dev jay dev
asht siddhi daasee sankat ko bairee

vighn vinaashan mangal moorat adhikaaree

koti sooraj prakaash aisee chhabee teree

gandast madmastak jhool shashi baharee

jay jay jay jay jay

jay jay jee ganaraaj vidyaasukhar

aasheervaad tuhaaro darshan mera mat nahin karana

jay dev jay dev

bhaavabhagat se koee sharanaagat aave

santati sampatti sabahi bharapoor paave

aise tum mahaaraaj moko ati bhaave

govaasaviaanand nishidin gun gaave

jay jay jee ganaraaj vidyaasukhar

aasheervaad tuhaaro darshan mera mat nahin karana

सुखकर्ता दुखहर्ता, वार्ता विघ्नांची|
नुरवी; पुरवी प्रेम, कृपा जयाची |
सर्वांगी सुंदर, उटी शेंदुराची|
कंठी झळके माळ, मुक्ताफळांची॥१॥
जय देव, जय देव जय मंगलमूर्ती|
दर्शनमात्रे मन कामना पुरती ॥धृ॥
रत्नखचित फरा, तुज गौरीकुमरा|
चंदनाची उटी , कुमकुम केशरा|
हिरेजडित मुकुट, शोभतो बरा |
रुणझुणती नूपुरे, चरणी घागरिया|
जय देव जय देव जय मंगलमूर्ती ॥२॥
लंबोदर पीतांबर, फणिवरबंधना |
सरळ सोंड, वक्रतुंड त्रिनयना|
दास रामाचा, वाट पाहे सदना|
संकटी पावावे, निर्वाणी रक्षावे, सुरवरवंदना|
जय देव जय देव, जय मंगलमूर्ती|
दर्शनमात्रे मनकामना पुरती ॥३॥

शिवजी की आरती, shiv ji ki aarti, aarti shiv ji

निष्कर्ष

गणेश जी महाराज की आरती। गणेश जी की आरती हिंदी में। गणपती आरती सुखकर्ता दुखहर्ता

भगतो आज हमने आपको गणेश जी की आरती वह मंत्र के बारे में लिखकर बताया है जिसे हमने आपको अंग्रेजी वह हिंदी में बताया है तो भगतो हमारे द्वारा दी लिखी गई आरती आपको कैसे लगी आप हमें कॉमेंट करके बता सकते हो जिससे हमें बहुत खुशी होगी अगर आप हमारे ब्लॉग पर अन्य आरती पढ़ना चाहते है तो आप हमें कॉमेंट करके बता सकते हो हम आपको उस आरती का भी लीक प्रोवाइडर करवा देंगे जिससे आप उसे भी इंग्लिश ओर हिंदी भाषा में पढ़ सकते हो।गणेश जी महाराज की आरती। गणेश जी की आरती हिंदी में। गणपती आरती सुखकर्ता दुखहर्ता

भगतो अगर आपको गणपति के बारे में कुछ जानकारी चाहिए तो भी आप हमें कॉमेंट करके पूछ सकते हो हम आपको उसकी जानकारी भी देगेगणेश जी महाराज की आरती। गणेश जी की आरती हिंदी में। गणपती आरती सुखकर्ता दुखहर्ता

भगतो अगर आपको हमारे आर्टिक्ल में कुछ कमी दिख रही है तो आप हमें बताया सकते हो हम वह कमी भी पूरी करेगे जिससे आर्टिक्ल अच्छा लगे।

Default image
कुलवंत सिंह भाटी
नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम कुलवंत सिंग भाटी है। मैं आपको किसान समाधान ब्लॉग पर खेती, फसलों, कृषि यंत्रो, खाद तथा किसानों के लिए आने वाली योजनाओं से जुड़ी सारी जानकारी शेयर करता हूँ।
Articles: 129

Leave a Reply