गर्मी में कौन-कौन सी फसल होती है | Garmi Mein Kaun Si Fasal Hoti Hai

किसान भाइयों गर्मी के मौसम में बहुत से प्रकार की खेती की जाती है हर मिट्टी में अलग अलग प्रकार की खेती की जाती है कुछ खेती तो ऐसी है जो हर किसान भाइयों को मालूम ही नही है की यह खेती किस मोसम में की जाती है तो में आज आपको गर्मी में की जाने वाली हर खेती के बारे में बताहूगा की कोन कोन सी खेती की जाती है ओर कौंसनी खेती कब से कब तक होती है ओर भी गर्मी के फसल से सम्बंधित सभी जानकारी आपको देहुगा

कपास की खेती

किसान भाइयों कपास की खेती गर्मी के मौसम में की जाती है यह खेती अच्छी पैदावार देने वाली फसल है लेकिन पैदावार के साथ साथ इसमे मेहनत भी ज्यादा लगती है

इसकी खेती काली मिट्टी में दोमट मिटी में अच्छी होती है
नरमे की खेती पंजाब, महाराष्ट्र, वह कुछ राजस्थान के हिसे में सबसे ज्यादा बोई जाने वाली फसल है यह फसल अप्रेल से मई के बीच बोई जाती है कुछ स्थानों पर मानसून के समय बोई जाती है वह यह फसल 240 से 265 दिन की होती है इसकी औसत पैदावार 9 से 12 क्विटल तक होती है

कपास की खेती अलग अलग मिटी में अलग अलग कपास का बीज बोया जाता है क्यो की कहि कम पानी वाली कपास लगाई जाती है और कही ज्यादा पानी वाली कपास लगाई जाती है अगर आपको अपनी मिट्टी वह पानी के हिसाब से कपास की फसल लगानी है तो आप इस लीक पर क्लिक करके सभी वेरायटी के बारे में जानकारी ले सकते है वह कोनसी वेरायटी कहा पर अच्छी पैदावार देगी यह सभी जानकारी इस लिंक के माध्यम से मिल जायेगी

अगर इसके अलावा आप कपास की खेती के बारे में सभी जानकारी लेना चाहते है जैसे कि कपास में रोग, खरपतवार, उपज, वह इसके अलावा कपास से जुड़ी सभी जानकारी आपको इस लीक कपास की खेती कैसे करें  के माध्यम से मिल जायेगी

मूंग की खेती

किसान भाइयो मूंग की फसल एक दलहनी फसल है जो कि कम समय मे तैयार हो जाती है यह फसल उत्पादन के साथ साथ मिट्टी को भी ऊपजाऊ बनाती है इसकी बुबाई आप मार्च में कर सकते है इसके अलावा आप जून -जुलाई में भी कर सकते है इसके आपको समय समय पर रोगों का विशेष ध्यान रखना होगा क्यो की इसमे सबसे ज्यादा फंगस को देखा जाता है इसके बचाव के लिए आप हर सप्ताह सप्रे कर सकते है जिससे फंगस ना आ पाए। इसकी उपज आप 3 क्विटल से लेकर 10 क्विटल तक देखी जा सकती है अगर आप मूंग की खेती के बारे में सभी जानकारी विस्तार से लेना चाहते है तो आप इस लिंक ग्रीष्मकालीन मूंग की खेती कैसे करें पर क्लिक कर सकते है

ग्वार की खेती

किसान भाइयो ग्वार की भी अछी फसल है जो बहुत कम खर्च के साथ हमे उत्पादन देती है वह भुमी को भी उपजाऊ बनाती है जिससे आगे की फसल में उत्पादन अन्य फसल के बजाए अधिक मिलता है

ग्वार की खेती दोमट मिट, बलुई मिट्टी, रेतीली मिट्टी सभी प्रकार की मिट्टी में की जाती है ग्वार की हमे हमेशा मीठे पानी से या बारिश के पानी पर ही करनी चाहिए जिससे फसल अच्छी होती है और अगर बिच में एक बारिश भी आ जाये तो पानी लगाने की आवश्यकता नही पड़ती
ओर सबसे कम स्प्रे की आवश्यकता पड़ती है

इसकी खेती वर्षा रितु में अधिक होती है इसकी खेती करने का सही समय जून जुलाई महीना है यह लगभग 90 से 100 दिन की फसल होती है जो कि सबसे कम अवधि वाली फसल है इसकी औसत पैदावार 3 से 6 क्विटल प्रति बीघा तक रहती है अगर आप भी इसकी खेती करना चाहते है और ग्वार की खेती के बारे में सभी जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो आप इस लीक ग्वार की खेती कैसे करें सारी जानकारी पर क्लिक करके ग्वार की खेती के बारे में सभी जानकारी प्राप्त कर सकते है

अरहर की खेती

अरहर एक दलहनी फसल है जिसकी बुवाई गर्मियों के दिनों में जून – जुलाई में करते है अरहर 130 से 135 दिन में तैयार हो जाती है वह अच्छी उपज प्राप्त होती है यह फसल आप पहले नर्सरी में तैयार करके भी बो सकते है इसके अलावा आप सीधे खेत मे बो सकते है

अरहर की फसल में हमे समय समय पर देखभाल करनी जरूरी है जैसे कि अरहर की खेती में खरपतवार बार को नष्ट करना, अगर आप इसकी बुवाई करे तो कितनी गहरी जुताई करे , साथ में कितनी दूरी पर बुवाई करे इस तरह के धियान देना बहुत जरूरी है

अगर आप भी सोच रहे अरहर की खेती करना तो आपको पूरी जानकारी होना बहुत आवश्यक है और आपको अरहर की खेती के बारे में विस्तार से पूरी जानकारी इस लिंक के माध्यम से मिलेगी तो आप इस लिंक  अरहर की खेती कैसे की जाती है? सारी जानकारी पर क्लिक करके पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते है

मिक्का की खेती

मक्का खरीफ ऋतू की फसल है जिसको आप अपने साधन की सुविधा के अनुसार आगे पीछे कर सकते है यह फसल मई के अंत मे वह जून के शुरू में कर सकते है यह फसल 90 से 115 दिन के लगभग होती है इसकी उपज एक बीघा में 11 से 12 क्विटल होती है इसमे जब 25% नमी रहे तब मक्का काट लें

धान की खेती

किसान भाइयों धान की खेती भारत मे बहुत बड़े पैमाने कर की जा रही है क्यो की इसी से चावल की पूर्ति की जाती है इसकी खेती बहुत से राज्य में की जाती है अगर आप भी इसकी खेती करना चाहते है तो आपको कुछ खास बातों को धियान में रखना होगा

जिसे की इसके लिए मजबूत मिट्टी की आवश्यकता होती है जिस पर पानी रुक जाए साथ मे उपजाऊ हो इसकी खेती करने से पहले हरि खाद तैयार करके मिट्टी में मिलानी चाहिए जिससे धान अच्छा हो

धान की खेती करने से पहले नर्सरी तैयार करनी होगी उसके बाद वर्षा प्रारम्भ होते ही खेत मे बुवाई शुरु कर देनी चाहिये इसका समय जून से जुलाई का समय सही रहता है

धान की खेती में पानी का ओर रोगों का विशेष धियान देना चाहिए इसके अलावा खाद उर्वरक, वह रोगों का भी धियान देना पड़ता है

मुगफली की खेती

मुगफली की भी एक अच्छी फसल है जिसकी बुवाई मध्य जून से मध्य जुलाई में कर देने से अच्छा उत्पादन देता हैं
इसकी खेती बालुई दोमट मिट्टी में अच्छी होती है मुगफली की खेती 115 दिन से 120 दिन की होती है उसका उत्पादन 5 से 6 क्विटल प्रति बीधा के हिसाब से होता है मुगफली की गहरी जुताई करनी चाहिए क्यो की इसकी जड़ो में मुगफली लगती है
इसकी खेती में लगने वाले रोगों पर ध्यान देना होगा इसके अलावा पानी की निकासी का अच्छा परबन्द होना चाहिए क्यो की अधिक पानी इनकी जड़ो में रुक जाने से पोधो खराब हो जाता है साथ मे इसके फल भी गल जाते है जिससे उत्पादन पर प्रभाव पड़ेगा

सोयाबीन की खेती

सोयाबीन की खेती जून से जुलाई महीने में की जाती है इसकी खेती 90 से 120 दिन में पककर तैयार हो जाती है जब पोधे की पकी हुही फलिया पीली पड़ने लग जाती है तब फसल काटने के लिए तैयार हो जाती है इसकी खेती के शुरू के 30 से 40 दिन खरपतवार का धियान रखना पड़ता है वह इसकी खेती में अधिक पानी की आवश्यकता नही होती।

यह एक अच्छी फसल है जिसमें प्रोटीन की अधिक मात्रा पाई जाती है साथ ही फसल को भी अधिक उपजाऊ बनाती है इस लिए इसकी खेती हर 3 से 4 साल में एक बार करनी चाहिए जिससे फसल पर बहुत प्रभाव पड़ेगा

बाजरी की खेती

किसान भाइयों बाजरी की आप जिलाई के अंत तक कर सकते है इसकी अलग अलग किस्म की बिजाई की जाती है और अलग अलग पैदावार प्राप्त की जाती है हर प्रकार की मिट्टी वह पानी के हिसाब से अलग अलग बिजाई की जाति है
इसकी अच्छी किस्म की पैदावार में 35 से 40 क्विटल बाजरी प्राप्त की जा सकती है और इनसे कम 20 से 25 क्विटल प्राप्त की जा सकती है इसकी खेती बालू मिट्टी में दोमत मिट्टी में , बरानी भुमी में भी की जा सकती है
यह गर्मी में अत्यधिक शीघ्रता से बढ़ने वाली अच्छी फसल है

Default image
कुलवंत सिंह भाटी
नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम कुलवंत सिंग भाटी है। मैं आपको किसान समाधान ब्लॉग पर खेती, फसलों, कृषि यंत्रो, खाद तथा किसानों के लिए आने वाली योजनाओं से जुड़ी सारी जानकारी शेयर करता हूँ।
Articles: 129

Leave a Reply