केसर की खेती कैसे की जाती है जानिए। Kesar Ki Kheti Ki Jankari in Hindi

पूरी दुनियाँ के अंदर केसर का पोधा और इसकी खेती काफी ज्यादा प्रसिद्ध है। केसर की खेती करना जितना कठिन काम है उतनी ही ज्यादा इसके अंदर कमाई है क्योंकि इसमें किसी भी प्रकार की मशीन का इस्तेमाल आप खेती में नहीं कर सकते है। केसर की खेती की बुवाई से लेकर केदार के फूल इकट्ठे करने का सारा काम हाथ से करना पड़ता है।

अगर आप केसर की खेती करने के बारे में सोच रहे है तो आपके लिए यह आर्टिक्ल बहुत ही महत्वपूर्ण है। इस आर्टिकेल में आपको केसर की खेती कैसे करें, इसे रोगो से कैसे बचाएं इससे जुड़ी सारी जानकारी मिल जाएगी। तो दोस्तो आर्टिक्ल पूरा पढ़ें।

अगर आप किसान है तो आप हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़ सकते है जहां आपको खेती से जुड़ी सारी जानकारी मिलेगी।

क्लिक करें और जॉइन किसान समाधान टेलीग्राम चैनल 

केसर की खेती की संपूर्ण जानकारी | Kesar Ki Kheti Ki Jankari in Hindi

  1. केसर की खेती मुख्यत  समुद्र तल से 1500 मीटर से 2500 मीटर की ऊंचाई वाले छेत्र में लगते हैं
  2. इसके लिए 15 से 20 ℃  तापमान की आवश्यकता होती है
  3. क्यो ठंडा ओर गिला मोसम   पोधो के विकास को रोकता है
  4. केसर की खेती आप जिस खेत मे करने जा रहे हो वह रेतीली चिकनी बलुई मिट्टी या फिर दोमत मिट्टी  होनी चाहिए
  5. ओर इसका PH मान 5.5 से 8.5 के बीच होना चाहिए
  6. साथ ही उस स्थान पर केसर की खेती करे जहाँ पानी की निकाशी आसानी से हो सके
  7. अगर पानी केसर की जड़ो में रुक जाए तो जड़े सड़न लग जाती है
  8. ओर फसल खराब हो जाती है
  9. इसलिए ऐसी मिट्टी और स्थान का उपयोग करे जहा पानी का जमाव ना हो

केसर की खेती कैसे की जाती है | Kesar Ki Kheti Kaise Kare

जैसा कि आप जानते हैं किसी भी खेत को सबसे पहले अच्छी तरह तैयार करते हैं जितना अच्छा खेत तैयार होगा उतनी ही अच्छी फसल होगी

केसर का बीज बोन से पहले खेत को 3 से 4 बार जुताई कर ले, उसके बाद गोबर की खाद 20 टन ओर 90 किलो नाइट्रोजन, 60 किलो फास्फोरस, 60 किलो पोटास  प्रति हेक्टेयर के हिसाब से छिड़काव कर दे।

उसके बाद 1 जुताई ओर कर दे जिससे खाद मिट्टी में मिल जायेगी,  उसके बाद पाटा लगाकर खेत को समतल कर दे ओर फिर बुवाई शुरू करनी चाहिए।

केसर की खेती कब और कैसे करें | Kesar Ki Kheti Kab Aur Kaise Ki Jaati Hai

आप सभी जानते हैं कि किसी भी फसल की रोपाई का एक सही समय होता है।  अगर समय पर रोपाई नही की जाए तो पैदावार अच्छी नही मिलती, अच्छी पैदावार प्राप्त करने के लिए समय और रोपाई करनी बहुत जरूरी है

केसर की खेती करने का सही समय जुलाई से अगस्त है,अगर इसे मध्य जुलाई में लगाया जाए तो बहुत ही अच्छा  समय  है। केसर की खेती के लिए 10 cm वर्षा की आवश्यकता होती है, अगर बीज लगाने के कूछ दिन बाद वर्षा हो जाये तो इसमे सिचाईं की आवश्यकता नही होती है।

अगर वर्षा नही होती है तो 15 दिन के अंतराल पर 2 से 3 सिचाईं करने की आवश्यकता पड़ती है। वर्षा या सिचाईं के दौरान खेत मे कहि पानी का जमाव नही होना चाहिए, अगर पानी का जमाव हो गया है तो जल्द ही जल निकासी का प्रबन्ध करे

अमेरिकन केसर की खेती | American Kesar Ki Kheti

आप को मालूम होगा  सबसे अच्छी केसर कश्मीर में निकलती है, कुछ लोग अमेरिकन केसर के नाम से  लोगो को ठग रहे हैं।  वह अमेरिकन केसर नही होती वह एक कुसंबड़ा नामक पौधा होता है जिससे तेल निकलता है ओर बाजार में लगभग 50 रुपये किलो के हिसाब से बिकता है।

जो असली केसर होती है वह एक फूल में 3 पकुड़ी केसर की निकलती है जो कुसंबड़ा का पोधा अमेरिकन नाम से प्रचलित हो रहा है उसमें केसर जैसी ही 15 से 20 पकुड़ी निकलती है।  जो किसान इसकी खेती करना चाहता है तो वह इसका विशेष दियान दे।

केसर की खेती में फूल आने का समय

केसर के पोधे में अक्टूबर महीने के पहले सप्ताह में पोधे में फूल आना शुरू हो जाता है, आगे 1 माह तक फूल लगने की प्रकिया शुरू रहतीं है, इस समय इस पर विषेस धियान दे कि इस पर किसी भी प्रकार का कोई किट पतंगा तो नही लग रहा हो।

केसर निकालने का समय क्या है | Kesar Nikalne Ka Tarika

केसर के पौधे के फूल आने के दूसरे दिन फूल को तोड़ लिया जाता है ओर इसे सूखा दिया जाता है केसर का फूल 4 से 5 घण्टे में सुख जाता है। फिर फूलो से केसर को अलग निकाल लिया जाता है ओर किसी बर्तन / कंटेनर में केसर को रख लिया जाता है।

पूरी फसल को  निकाल कर केसर को अच्छी तरह सूखा लिया जाता है ओर फिर उसे बाजार में बेच दिया जाता है या इसे ऑनलाईन भी बेच सकते हो जहा पर अच्छे दाम मिले वही पर बेचे।

केसर की खेती में खरपतवार नियंत्रण कैसे करें

खरपतवार का विशेष धियान रखना चाहिए, अगर आप को खरपतवार नजर आए तो इसकी निराई गुडाई समय समय पर करते रहना चाहिए।  वह खेत का निरक्षण करते रहना चाहिए, घास हमारी फसल को नुकसान पहुचता है केसर को पूर्ण मात्रा में खाद नही मिल पाती।

केसर की पहचान कैसे करे | Kesar Ki Pehchan Kaise Kare

अगर कोई भाई इसे खाने के किये घर पर लाये तो इसे चेक कर के लियाए।  चेक करने  के लिए आप को हथेली पर  4 से 5 बून्द पानी लेना है उसमे 3 से 4 पकुड़ी केसर की गैर देनी हैकेसर अपना रंग पानी मे मिला दे या रग छोड़ दे उसके बाद अगर केसर की पकुड़ी का रंग फीका फड़ जाए या चेज हो जाये तो केसर नकली है।

अगर केसर से पानी का रंग बदल जाये  साथ मे केसर की पकुड़ी वैसी की वैसी रहे पकुड़ी फीकी ना पड़े तो वह केसर असली होगी। इसकी दूसरी पहचान यह है कि केसर की एक या 2 पकुड़ी उठाकर उसे जीभ पर रखनी चाहिए अगर केसर मीठा लगे तो केसर नकली है अगर केसर थोड़ा तीखा लगे तो असली है।

केसर इतनी महंगी क्यो होती है।  Kesar Itna Mehnga Kyun Hai

केसर की खेती में मशीन की जगह सभी काम हाथ से करना पड़ता है, इसमे फूल में से केसर निकली जाती है जो कि हाथ से निकलती है। एक फूल में तीन केसर/ दागा होता है, अगर 75 हजार  फूल हो तो उसमें से केवल लगभग 400 ग्राम केसर  निकलती हैं। आयुर्वेद में भी इसका उपयोग किया जाता है ओर केसर के फायदे बहुत अधिक है जिस कारण केसर मंहगी होती है।

केसर के फायदे क्या है जाने | Kesar Ke Fayde Kya Hai

केसर में ऐसे बहुत से गुण है जो अनेक बीमारियों से मुक्त करता है जैसे

1. केसर का जले कटे पर लेप लगाने से आराम मिलता है

2.  दूध में केसर मिलाकर पीने से सर दर्द और खासी में आराम मिलता है

3. गेस एसिडिटी में भी केसर बहुत लाभदायक है

4. सर दर्द में केसर ओर चंदन का लेप लगाया जाता है

5. यह किडनी ओर लिवर को स्वस्थ रखता है

6. हमारे शरीर की शक्ति बढ़ाने , अच्छी नींद ओर दवाइयों को बनाने में उपयोगी है

केसर की खेती से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण जानकारी

  1. केसर पूरे विशव में पाया जाने वाला कीमती पौधा हैं
  2. केसर को लाल सोना भी कहा जाता है
  3. केसर को जाफरान ओर सैफरॉन नाम से भी जाना जाता है
  4. केसर एक खुशबूदार पोदा है
  5. जिसका उपयोग औषधिय ओर मसालो के रूप  में किया जाता है
  6. केसर हमारे भोजन का स्वाद बढ़ाने के साथ साथ स्वास्थ्य के लिए भी बहुत अच्छा है
  7. इसकी खेती करना भी बहुत आसान है
  8. इसकी खेती करने के लिए ज्यादा मेहनत करनी नही पडती
  9. इसकी खेती 3-4 महीने की होती हैं
  10. केसर बाजार में बहुत महंगी बिकती है
  11. केसर की खेती से अच्छी आय प्राप्त कर सकते हैं

केसर के उत्पादन से जुड़ी जानकारी | Kesar Ke Utpadan Se Judi Jankari

केसर की खेती से लगभग 2.5 से 3 किलो प्रति हेक्टेयर सुखी केसर का उत्पादन हो सकता है

केसर की खेती सबसे ज्यादा कहां होती है? Kesar ki Kheti Sabse Jyada Kahan Hoti Hai

सबसे ज्यादा केसर की खेती ईरान में होती है, दुनिया की लगभग 85% केसर होती है।  उसके बाद भारत , अफगानिस्तान, अमेरिका, ओर स्पेन इन स्थानों पर बहुत कम  केसर की खेती होती है।

मैं खुद किसान परिवार से हूँ और मैंने देखा की इंटरनेट पर किसानो की सहायता करने वाली कोई भी हिन्दी वैबसाइट नहीं है इसलिए मैं किसानों की सहायता के लिए इस वैबसाइट पर बहुत रिसर्च करके जानकारी लाता हूँ तो आपका भी एक फर्ज बनता है की आप इसे अपने Social Media जैसे Facebook, WhatsApp पर शेयर करें।

Default image
कुलवंत सिंह भाटी
नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम कुलवंत सिंग भाटी है। मैं आपको किसान समाधान ब्लॉग पर खेती, फसलों, कृषि यंत्रो, खाद तथा किसानों के लिए आने वाली योजनाओं से जुड़ी सारी जानकारी शेयर करता हूँ।
Articles: 129

4 Comments

  1. 6201362872 सर बिहार में भी केशर की खेती किया जा सकता है
    फोन पर जानकारी चाहिए

Leave a Reply